Ads Area

Climate Change Performance Index 2021 [CCPI 2021]: Complete Detail

 Climate Change Performance Index 2021

हेलो दोस्तों स्वागत हैं आपका एक बार फिर से www.ibpsguidehindi.com पर
आज हम Climate Change Performance Index 2021[जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक 2021] जो परीक्षाओ में पूछे सीधे पूछे जाते हैं के बारें में विस्तार से जानेंगे। 

Climate Change Performance Index 2021 [CCPI 2021]: Complete Detail
Climate Change Performance Index 2021 [CCPI 2021]


आज इस Article में हम जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक 2021 से सम्बंधित सभी Fact तथा जानकारी के बारे में जानेंगे। जैसे ये रिपोर्ट या इंडेक्स कौन जारी करता हैं या किस संस्था द्वारा जारी की जाती हैं, कब जारी होती, किस देश ने सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया तथा भारत का स्थान क्या रहा। 

आइए शुरू करते हैं। Climate Change Performance Index 2021(CCPI 2021)

Join us on Telegram:- Join Link

    Climate Change Performance Index 2021 

    जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक (CCPI) में भारत इस वर्ष भी शीर्ष 10 स्थान में रहा। 

    जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक 2021
     जारी दिनांक:- 7 दिसम्बर 2020 

    Free Mock Test

    जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक जारी करने वाली संस्था

    जर्मनवाच, न्यूक्लाइमेट इंस्टिट्यूट एवं क्लाइमेट एक्शन नेटवर्क द्वारा 

    2021 में भारत का स्थान :- 10th (Score 63.98)
    2019 में भारत का स्थान :- 9th 



    जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक की विभिन्न श्रेणियों में भारत का प्रदर्शन


     भारत ने Climate Change Performance Index 2021(CCPI 2021) की सभी श्रेणियों  उच्च रेटिंग प्राप्त की हैं। 

     अक्षय ऊर्जा श्रेणी में भारत का प्रदर्शन मध्यम हैं। 

    1. नवीकरणीय ऊर्जा :- 

    भारत को नवीकरणीय ऊर्जा श्रेणी के तहत 57 देशो में से 27वे स्थान पर रखा गया हैं, जबकी बीते वर्ष भारत इसमें 26वे स्थान पर था। 

    2. ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन :- 

    भारत में प्रति व्यक्ति उत्सर्जन तुलनात्मक रूप से निम्न स्तर पर हैं। इस श्रेणी में भारत को 12वा स्थान प्राप्त हुआ हैं। 

    3. BS-VI उत्सर्जन मानदण्ड :- 

    इस श्रेणी में भारत को 13वा स्थान प्राप्त हुआ हैं। भारत में ऑटोमोबाइल से होने वाले उत्सर्जन को नियंत्रित करने के लिए BS-VI उत्सर्जन मानदण्ड को लागु किया गया हैं। 

    4. ऊर्जा उपयोग :- 

    इस श्रेणी में भारत का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा हैं और भारत को इसमें 10वा स्थान प्राप्त हुआ हैं। 

     भारत ने न केवल ऊर्जा दक्षता हेतु 'संवर्द्धित ऊर्जा दक्षता के लिए राष्ट्रीय मिशन' (NMEEE) के रूप में एक व्यापक नीति तैयार की हैं , बल्कि जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करते हुए उपभोक्ताओ और नगर निगमों के लिए माँग आधारित प्रबन्धन कार्यक्रमों को भी सफलतापूर्वक निष्पादित किया हैं। 

    Climate Change Performance Index 2021(CCPI 2021) की सभी श्रेणियों
    Climate Change Performance Index 2021(CCPI 2021) की सभी श्रेणियों

    Climate Change Performance Index 2021(CCPI 2021) की वैश्विक स्थिति 


     CCPI 2021 में प्रथम 3 स्थानों पर कोई भी देश स्थान नहीं बना सका, क्योकि पेरिस समझौते के लागु होने के बाद भी किसी देश द्वारा जलवायु परिवर्तन के खतरनाक प्रभावों की रोकथाम हेतु पर्याप्त कदम नहीं उठाए गए हैं। 

     शीर्ष 3 स्थान रिक्त रखे जाने के कारण स्वीडन इस सूचकांक में 4th पर हैं।  इस प्रकार इस सूचकांक में स्वीडन ने 74.42 के स्कोर के साथ शीर्ष स्थान प्राप्त किया हैं। 

     केवल 2 G-20 देश -ब्रिटेन और भारत CCPI 2021 में उच्च रैंक वाले देशो में से हैं। सूचकांक में अमेरिका, कनाडा, दक्षिण कोरिया, रूस, ऑस्ट्रेलिया और सऊदी अरब सहित G-20 के अन्य 6 देशो को सूचकांक में सबसे नीचे स्थान दिया गया हैं। 
    • अमेरिका :- 61th
    • सऊदी अरब :- 60th
    • ईरान :- 59th
    • कनाडा :- 58th
    • ऑस्ट्रेलिया :- 54th
    • रूस :- 52th
    क्या आप जानते हैं हेनले पासपोर्ट सूचकांक 2021 में भारत का स्थान क्या रहा। 

    Climate Change Performance Index 2021(CCPI 2021) में शीर्ष 10 स्थान प्राप्त राष्ट्र 

    रैंक

     राष्ट्र 

    स्कोर

    1.

    किसी को स्थान नहीं 

    -

    2.

    किसी को स्थान नहीं 

    -

    3.

    किसी को स्थान नहीं 

    -

    4.

    स्वीडन

    74.42

    5.

    यूनाइटेड किंगडम 

    69.66

    6.

    डेनमार्क

    69.42

    7.

     मोरक्को

    67.59

    8.

    नॉर्वे 

    64.45

    9.

    चिली

    64.05

    10.

    भारत 

    63.98





    Climate Change Performance Index (CCPI) के बारे में 


     जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक को जर्मनवाच, न्यूक्लाइमेट इंस्टिट्यूट एवं क्लाइमेट एक्शन नेटवर्क द्वारा वर्ष 2005 से वार्षिक आधार पर प्रकाशित किया जा रहा हैं। 

     इसका उद्देश्य जलवायु सरंक्षण पर महत्वाकांक्षी कार्य करने में असफल देशो पर सामाजिक एवं राजनीतिक दबाव डालने एवं जलवायु नीतियों पर अच्छा काम करने वाले देशो को चिन्हित करना हैं। 

     मानवीकृत मानदण्डों के आधार पर, यह सूचकांक 57 देशो एवं यूरोपीय संघ के जलवायु सरंक्षण प्रदर्शन मूल्यांकन एवं तुलनात्मक अध्ययन को प्रस्तुत करता हैं। इसके तहत शामिल सभी देश सयुक्त तौर पर 90% से अधिक ग्रीन हाउस गैस का उत्सर्जन करते हैं। 

     यह सूचकांक 4 श्रेणियों के अंतर्गत 14 संकेतकों पर देशो के समग्र प्रदर्शन के आधार पर जारी किया जाता है। जिसमे ग्रीन हॉउस गैस उत्सर्जन को 40%, नवीकरणीय ऊर्जा को 20%, ऊर्जा उपयोग को 20%, जलवायु नीति को 20% हिस्सा दिया गया हैं।  

    Free Mock Test


    Practice Questions

    1. जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक 2021 में भारत का क्या स्थान रहा ?
    उत्तर :- 10वा 

    2. जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक 2019 में भारत का क्या स्थान रहा था ?
    उत्तर :- 9वा 

    3. जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक 2021 में शीर्ष स्थान पर कौन रहा ?
    उत्तर :- स्वीडन 

    4. जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक कोनसी संस्था द्वारा जारी किया जाता हैं ?
    उत्तर :- जर्मनवाच, न्यूक्लाइमेट इंस्टिट्यूट एवं क्लाइमेट एक्शन नेटवर्क 

    5. जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक 2021 में अमेरिका का क्या स्थान रहा ?
    उत्तर :- 61वा 

    6. जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक कितनी श्रेणियों के प्रदर्शन के आधार पर जारी किया जाता हैं ?
    उत्तर :- 4 श्रेणियों के प्रदर्शन के आधार पर
    श्रेणियां 
    • ग्रीन हॉउस गैस उत्सर्जन
    • नवीकरणीय ऊर्जा  
    • ऊर्जा उपयोग
    • जलवायु नीति
    ----------$$----------

    आप हमें Social Media पर भी follow कर सकते हैं। 

    Stay Tuned For More.


    आपको यह जानकारी कैसी लगी Comment करके जरूर बताये व आपको इसके अलावा और कोनसे इंडेक्स के बारे पढ़ना है comment में बताये 

    Post a Comment

    0 Comments
    * Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

    Top Post Ad

    Below Post Ad

    Ads Area

    close